B.B.C. हिन्दी समाचार

एक चूक ने ले ली इतनी सारी जान

2018-03-13 |

न्यूज़ डेस्क- नेपाल की राजधानी काठमांडू के त्रिभुवन अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर सोमवार को बंग्लादेश के एक विमान के दुर्घटनाग्रस्त हो जाने से कम से कम 50 लोगों की मौत हो गई। इस विमान में 71 यात्री सवार थे। वहीं प्लेन लैंड होने के पहले पायलट और एयर ट्रैफिक कंट्रोलर आपस में बातचीत कर रहे थे। बातचीत के दौरान पायलट को प्लेन लैंडिंग को लेकर कंफ्यूजन हो गया था जिसके कारण इसे रनवे नंबर-2 यानि एयरपोर्ट के दक्षिण की ओर नहीं बल्कि रनवे-20 पर उत्तर की ओर उतारा गया। इस चूक के कारण प्लेन फिसलकर पास के फुटबॉल मैदान में पहुंच गया और विमान में तेज धमाके के साथ आग लग गई।  नेपाली टाइम के मुताबिक, त्रिभुवन एयरपोर्ट का एयर ट्रैफिक कंट्रोलर (एटीसी) बांग्लादेशी विमान बीएस 211 और मिलिट्री विमान बुद्धा 282 के पायलट से एक साथ बात कर रहा था, इससे रनवे नंबर 02 और 20 पर लैडिंग को लेकर कन्फ्यूजन हो गया। दरअसल एटीसी ने प्लेन बुद्धा 282 से कहा कि रनवे 20 लैंड के लिए क्लियर है जबकि बांग्लादेशी विमान बीएस 211 को लगा कि यह बात उसे कही गई है। इसके बाद पायलट भी जवाब देता है कि हम लैंडिंग के लिए तैयार हैं। हालाकि एटीसी उसे वापिस जाने को कहती है लेकिन तब तक एक तेज धमाके के साथ प्लेन क्रैश हो जाता है।


Load Next News

सम्बंधित खबरें

ताज़ा खबरें

सबसे लोकप्रिय